RAJA VIR BHADRA SINGH

राजा वीरभद्र सिंह, छ  बार के मुख्यमंत्री   RAJA VIR BHADRA SINGH

राजा वीरभद्र सिंह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वरिष्ट नेता तथा हिमाचल के पूर्व मुख्यमंत्री हैं । वीरभद्र सिंह का जन्म 23 जून 1934 को शिमला जिला की बुशेअर रियासत के राजघराने में हुआ ।

 इनके पिता का नाम राजा पदम् सिंह तथा माता का नाम रानी शांति देवी था ।

इन्होंने अपनी स्कूल की पढाई शिमला के Bishop Cotton School से तथा B.A. (Honors) की डिग्री St. Stephen’s college Delhi से प्राप्त की।

वीरभद्र सिंह प्रदेश के छ बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं । इन्हें अब तक सबसे लम्बे समय तक प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने का गौरव प्राप्त हैं।

ये 8 बार विधायक 5 बार लोकसभा सांसद तथा 4 बार प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भी रहे हैं ।

55 वर्ष से भी जयादा राजीनीतिक जीवन में अभी तक एक भी चुनाव नहीं हारे हैं।

कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद 1962 में पहली बार । 1967 में दूसरी और 1972में तीसरी बार लोकसभा के लिए चुने गए।

1976 में इन्हें जनरल असेंबली ऑफ़ यूनाइटेड नेशन के लिए भारतीय दल का सदस्य बनाया गया।

1976 -1977 में इन्हें भारत सरकार में Deputy Minister for Tourism and Civil Aviation बनाया गया ।

1980 से 1983 तक ये भरत सरकार में Minister of State for Industries भी रहे ।

1983 में पहली बार वीरभद्र सिंह हिमाचल के मुख्यमंत्री बने और मार्च 1990 तक मुख्यमंत्री रहे।

दिसम्बर 1993 से मार्च 1998 तक मार्च 2003 से दिसम्बर 2007 तक दिसम्बर 2012 से दिसम्बर 2017 तक प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।

मई 2009 से जून 2012 तक केन्द्र सरकार में मंत्री रहे। आज ये प्रदेश विधानसभा के सदस्य हैं ।


0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *